BS VI: नयी और बेहतर इंजन प्रणाली

BS 4 Engine Fleetpro

वाहनों के कारण रोज़ बढ़ते प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है कि 1 अप्रैल 2020 तक वर्तमान में चल रहे BS IV तकनीक के इंजन की जगह BS VI को बाज़ार में उतारा जाएगा I

सभी पर्सनल और कमर्शियल वाहनों में BS VI standard के इंजन लगाए जाएंगे I वैसे पूर्व योजना के अंतर्गत BS VI इंजन को 2024 तक लाया जाना तय था, और इसकी जगह BS V norms को लागू करना तय किया गया था, लेकिन रोज़ाना बढ़ते हुए इस जानलेवा प्रदुषण को जल्दी कम करने के लिए सरकार ने BS V की जगह सीधे BS VI लागू करने का फैसला लिया I

BS स्टैण्डर्ड क्या होता है?

आईये सबसे पहले हम लोग यह जानते हैं कि ये BS standard होता क्या है और इसे क्यों लागू किया गया है I

BS का मतलब होता है Bharat Stage Emission Standards I भारत सरकार द्वारा इसकी स्थापना सन 2004 में की गयी थी I इसका मुख्य उद्देश्य भारत में वाहन से होने वाले प्रदुषण को नियंत्रित करना है I

Bharat Emission Standards , European Norms पर आधारित हैं जिसके अंतर्गत 2017 में BS IIIके इंजन की जगह BS IV नॉर्म्स के साथ नए इंजन लागु किये गए जो वर्त्तमान में चल रहे हैं I

Euro norms पर आधारित Bharat Emission Standards के अनुसार प्रत्येक वाहन द्वारा छोड़े गए प्रदुषण की एक निर्धारित और अधिकतम सीमा होनी चाहिए I

वाहनों द्वारा होने वाले प्रदुषण में CO2, Sulphur, Nitrogen Oxide और प्रतिबंधित Particulate Matter के  खतरनाक कण होते हैं I इसलिए इस तय सीमा से ज़्यादा प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों को प्रतिबंधित कर दिया जाता है I

BS IV और BS VI में अंतर

अब हम यह जानेंगे कि क्यों सरकार ने BS IV इंजन norms को बंद करके और BS V को भी छोड़कर सीधे BS VI norms के साथ जाने का फैसला लिया I BS IV और BS VI के में सबसे बड़ा फ़र्क़ होता है फ्यूल में Sulphur की मात्रा का I जहाँ BS IV फ्यूल में 50 (ppm) Sulphur होता है तो वहीँ नयी BS VI तकनीक में सिर्फ 10 (ppm) का ही अंश होता है I

इसके अलावा और किस तरह से BS VI अलग और सुरक्षित है BS IV से, ये जानने के लिए नीचे दिए गए table को विस्तार से समझते हैं –

तो इस ब्लॉग के पहले अंक में हमने जाना कि BS VI standards क्या हैं, उनके norms क्या हैं और वो किस तरह से BS III और  BS IV से बेहतर हैं I अधिक जानकारी के लिए इस ब्लॉग का दूसरा अंक पढ़ेंI Click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *